आज ही के दिन मानसी सहरसा रेलखंड पर हुआ था देश का सबसे बड़ा रेल हादसा, 6 जून 1981 को रेलवे के इतिहास का काला दिन, जाने क्यों

0
8848

देश के इतिहास में आज ही के दिन सबसे बड़ा रेल हादसा
हुआ था जब पूरी की पूरी ट्रेन बागमती में समा गयी। 6 जून 1981, ट्रेन में सवार हजारों यात्रियों को यह अहसास नही होगा कि यह सफर उनकी जिंदगी का आखिरी सफर होगा।
खगड़िया से सहरसा आ रही छोटी लाइन की ट्रेन के 9 बॉगी की पूरी की पूरी ट्रेन अचानक पुल से ट्रेन गिर गई और बागमती में समा गई।

इस ट्रेन हादसे में करीब 1000 से ज्यादा मौत हुई थी। यह हादसा इतना भयानक था कि ट्रेन के नदी में गिरने के बाद कई दिनों की खोज के बाद इस ट्रेन के बोगी कुछ किलोमीटर दूर जाकर मिले। बरसात के मौसम में नदी की तेज धार ट्रेन की कुछ बोगियों और इंजन को कुछ दूर खींच कर ले गयी।

बागमती रेल हादसे को लेकर कई कहानियां है। कई लोगों का मानना है कि ट्रेन के ड्राइवर ने इमरजेंसी ब्रेक लगाई जिससे ट्रेन का संतुलन बिगड़ा और ट्रेन नदी में समा गयी। वही दूसरी तरफ लोगों का मानना है कि तेज बारिश की बजह से लोगों ने ट्रेन की खिड़कियां बंद कर ली। तेज हवा बहने और ट्रैक पर फिसलन होने के कारण ट्रेन नदी में जा गिरी। उस समय कहा जाता है कि इस हादसे के बाद कई कई दिनों तक सहरसा में घरों में चूल्हा नही जला था। उस समय टेलीफोन या संचार की कोई सुविधा नही थी कि लोग अपने परिजनों का हाल पूछ सके। बहुत से ऐस लोग है जो इस रेल हादसे के गवाह बने और आज भी इसे याद करते है तो उनकी आंखों में आंसू आ जाते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here