सहरसा से सुपौल के बीच भारत माला प्रोजेक्ट के तहत बनेगी चार लेन सड़क

0
2384
Saharsa supaul

Saharsa supaul: सहरसा के महिषी तारा शक्तिपीठ से सुपौल होते हुए मधुबनी के उच्चैठ भगवती स्थान को जोड़ेगी सड़क, मधुबनी के भेजा से सुपौल के बकौर के बीच बनेगा देश का सबसे लंबा 10.2 किमी लंबा सड़क पुल

Saharsa Supaul: भारत माला प्रोजेक्ट के तहत सहरसा के महिषी स्थित तारा शक्तिपीठ सुपौल होते हुए मधुबनी तक सड़क बनाई जा रही है। इसी दौरान कोशी नदी पर मधुबनी के बकौर से सुपौल के बकौर से मधुबनी के भेजा तक 10.2 किमी देश का सबसे लंबा पुल का निर्माण किया जाएगा।

भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया में आयी तेजी

भारत माला प्रोजेक्ट के तहत बनने वाली सड़क के लिए मधुबनी के उच्चैठ भगवती स्थान से सहरसा के उग्रतारा स्थान, महिषी को जोड़ने वाले प्रस्तावित NH 327E के चौड़ीकरण, सुदृढ़ीकरण के लिए होने वाले भूमि अधिग्रहण के होने वाली स्थलीय जांच के लिए सहरसा डीएम कौशल कुमार की अध्यक्षता में 6 सदस्यीय समिति भी बनाई गई है।

सहरसा से सुपौल होते हुए मधुबनी तक होगी चार लेन सड़क

महिषी स्थित तारा स्थान से सुपौल होते हुए मधुबनी उच्चैठ भगवती स्थान तक चार लेन सड़क का निर्माण किया जाएगा। सहरसा सुपौल सड़क ऐसी पहली सड़क होगी जो चार लेन सड़क होगी। सहरसा से सुपौल तक बनने वाले फोर लेन सड़क के लिए भूमि अधिग्रहण प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है। इस सड़क के निर्माण होने से सहरसा सुपौल के बीच आवाजाही भी बढ़ेगी और मधुबनी से सहरसा तक चार लेन सड़क होगा।

1345 करोड़ की लागत से बनेंगे सड़क पुल

करीब 1345 करोड़ की लागत से नेशनल हाईवे 527 ए में सुपौल के बकौर से मधुबनी के भेजा के बीच 13.3 किमी टू लेन पुल का निर्माण किया जाएगा। NHAI ने पुल निर्माण की स्वीकृति पिछड़ा व पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से दिया था। इस पुल का निर्माण कोशी महासेतु के दक्षिण में लगभग 20 किलोमीटर दूरी पर किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here