कोशी रेल महासेतु पर ट्रैक का एलाइनमेंट शुरू, आसनपुर कुपहा से निर्मली तक बिछेगी रेल ट्रैक

1
1775

लॉक डाउन के बीच रेलवे ने उत्तर बिहार की सबसे बड़ी रेल परियोजनाओं में से एक मिथिला के दो भागों में बंटे इलाकों को जोड़ने के तहत निर्माण कार्य शुरू कर दिया है। सहरसा सुपौल फारबिसगंज सकरी निर्मली 206 किमी परियोजना के पूर्ण होते ही पूर्वोत्तर को उत्तर भारत से जोड़ने के लिए एक वैकल्पिक मार्ग मिलेगा। साथ ही सहरसा से दरभंगा की दूरी करीब 70 किमी कम हो जाएगी। दरभंगा से झंझारपुर तक ट्रेनों का परिचालन किया जा रहा है। झंझारपुर से तिमूरिया हाल्ट तक सीआरस निरीक्षण किया जा चुका है और आगे निर्मली तक रेल लाइन का निर्माण किया जा रहा है। सहरसा से सुपौल तक ट्रेन सेवा दिसंबर में शुरू की गई थीं। इसके आगे सरायगढ़ तक सीआरस निरीक्षण किया जा चुका है। सीआरस रिपोर्ट आने के बाद ट्रेनो का परिचालन शूरू किया जाएगा। सरायगढ़ से कोशी रेल महासेतु के रास्ते असानपुर कुपहा तक ट्रैक बिछाने का कार्य पूरा कर किया गया है एवं एलाइनमेंट कार्य शुरू कर दिया गया है। इसके पूरा होते ही मशीन की मदद से ट्रैक पैकिंग कार्य शुरू कर गया जाएगा।

आसानपुर कुपहा से निर्मली के बीच किया जा रहा सर्वे कार्य

मुख्य निर्माण अभियंता डी एस श्रीवास्तव ने कहा की आसनपुर कुपहा से निर्मली तक पांच किमी लंबे रेलखंड को जोड़ने के लिए सर्वे किया जा रहा है। सर्वे पूरा होने के बाद रेल ट्रैक बिछाने का कार्य शुरू कर दिया जाएगा। सहरसा से रेलयात्री कम समय में ट्रेन से निर्मली पहुंच पाएंगे। निर्मली से झांझरपुर के बीच लॉक डाउन के बाद काम मे तेजी आने की उम्मीद है। फिलहाल लॉक डाउन के बीच शुरू हुए रेल निर्माण कार्य में सोशल डिस्टनसिंग का ख्याल रखा जा रहा है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here