समस्तीपुर रेल मंडल में तेजी से हो रहा है कई रेल योजनाओं पर कार्य, नवनिर्मित कोशी सेतु, दोहरीकरण,आमान परिवर्तन सहित कई सुविधाओं का हो रहा विस्तार

0
981

कोरोना काल के दौरान ट्रेन सेवाएं बंद है केवल स्पेशल ट्रेनों का परिचालन किया जा रहा है। इस दौरान रेलवे ने कई परियोजनाओं को पूरा किया जिसमें सरायगढ़ आसनपुर कुपहा बड़ी रेल लाइन, सरायगढ़ से राघोपुर के बीच आमान परिवर्तन कार्य शामिल है। इसके अलावा दोराम मधेपुरा स्टेशन प्लेटफार्म का उच्चीकरण, समस्तीपुर दरभंगा जयनगर के बीच विद्युतीकरण कार्य शामिल है। समस्तीपुर रेल मंडल में कोरोना संकट के दौरान करीब 149 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों द्वारा करीब 4 लाख लोगों को अपने गंतव्य स्थान तक पहुंचाया गया। कोरोना संकट के समय करीब 40 हजार जरूरतमंदों को भोजन कराया गया। अलग अलग स्टेशनों पर करीब 56 आइसोलेशन कोचों की तैनाती की गई है। सहरसा, मोतिहारी और नरकटियागंज स्टेशन पर स्थानीय प्रशासन के सहयोग से एंटीजन टेस्ट भी कराया गया। गोरखपुर से कोलकाता के बीच साप्ताहिक पार्सल स्पेशल ट्रेन चलाई जा रही है, सहरसा, समस्तीपुर, दरभंगा, बेतिया,रक्सौल, मधुबनी आदि के व्यापारी अपने माल कोलकाता भेजने के लिए बुक करा सकते है। इसके अलावे सकरी, सरसी,मुक्तापुर और दोरम मधेपुरा स्टेशन स्थित माल गोदाम में प्रकाश की व्यवस्था की गई है जिससे रात में भी माल ढुलाई का कार्य किया जा सकेगा।

कई आधारभूत संरचनाओं का हुआ विस्तार

जयनगर दरभंगा समस्तीपुर और मुजफ्फरपुर सीतामढ़ी के बीच विधुतीकरण कार्य सम्पन्न, समस्तीपुर किशनपुर और थलवारा दरभंगा के बीच विधुतीकरण कार्य सम्पन्न हुआ। सरायगढ़ आसनपुर कुपहा बड़ी रेल लाइन, सरायगढ़ से राघोपुर के बीच आमान परिवर्तन कार्य पूरा किया गया। सिमरी बख्तियारपुर, सलोना और श्री कृष्ण सिंह गढ़पुरा स्टेशन पर जलापूर्ति की व्यवस्था की गई।

यात्री सुविधाओं में बढ़ोतरी

मुक्तापुर, किशनपुर, थलवारा,लहेरियासराय, झंझारपुर,लोहनरोड, सुपौल, सरायगढ़ और राघोपुर स्टेशन पर नए स्टेशन भवन का निर्माण किया गया। कमतौल, ओलापुर, रुसेराघाट, जनकपुर रोड और सोनवर्षा कचहरी स्टेशन भवन का उन्नयन किया गया। दोरम मधेपुरा के दोनों प्लेटफॉर्म को ऊंचा किया गया। मोतीपुर, सिकटा और सुपौल में नए फुट ओवरब्रिज का निर्माण किया जा रहा है। मुक्तापुर, सरायगढ़ और बड़हरा कोठी में नए मालगोदाम का निर्माण हुआ। बदलाघाट, सरसी और सकरी स्थित मालगोदाम का उन्नयन। दरभंगा स्टेशन के सर्कुलेटिंग एरिया का निर्माण किया जा रहा है। इसके अलावा संरक्षा कार्य के तहत नरकटियागंज और पनियावा के बीच पटरियों को बदला गया। रक्सौल स्टेशन पर दूसरे वाशिंगपिट का प्रावधान किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here