जिले में कोविड-19 संक्रमण के 1137 सक्रिय मरीज, 50 प्रतिशत से ज्यादा शहरी क्षेत्र के : जिलाधिकारी

0
686

-कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण की अद्दतन स्थिति को लेकर जिलाधिकारी ने की प्रेस प्रतिनिधियों से बात, शहरी क्षेत्र मे बढाई जा सकती है सख्ती।

-कोरोना के दूसरी लहर में 9 मार्च को मिला था पहला पॉजिटिव केस. 9 मार्च से 18 अप्रैल तक जिले में हो चुके हैं 56468 टेस्ट, 1488 मिले हैं पॉजिटिव।

कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण को लेकर जिलाधिकारी कौशल कुमार ने सोमवार को प्रेस वार्ता आयोजित कर मीडिया प्रतिनिधियों से बात की। आयोजित प्रेस वार्ता में जिलाधिकारी ने कहा रविवार को जिले में 161 नए पॉजिटिव मामले सामने आये है। उन्होंने यह भी बताया कि रविवार को कोरोना की वजह से 1 मरीज के मौत भी हुई है।कोविड-19 संक्रमण के दुसरे लहर को लेकर जिलाधिकारी ने शहरी क्षेत्र में सख्ती बढ़ाने के भी निर्देश दिए। जिले में कोरोना संक्रमण की अद्दतन स्थिति को लेकर प्रेस कांफ्रेंस में जिलाधिकारी ने बताया कि कोरोना के दूसरी लहर में 9 मार्च को जिले में पहला पॉजिटिव मरीज मिला था। 9 मार्च से 18 अप्रैल तक सहरसा में कुल 56468 कोविड टेस्ट किये जा चुके है जिसमे 1488 पॉजिटिव मिलने की पुष्टि की गयी का काम। कुल संक्रमित में से 335 लोगों रिकवर हुए हैं एवं 14 केस मधेपुरा मेडिकल कॉलेज रेफर किये गए। वहीँ कोरोना संक्रमण से जिले में कुल 2 लोगों की मौत हुई है। उन्होंने बताया वर्त्तमान में जिले में 1137 सक्रिय मरीज हैं। कुल सक्रिय मरीजों में 50 प्रतिशत से ज्यादा शहरी क्षेत्र के हैं। इसी कारण जिलाधिकारी ने कहा कि आवश्यकता पड़ने पर शहरी क्षेत्र में सख्ती ओर बढाई जा सकती है।

शाम 6 बजे तक ही दुकाने मेलेंगी खुली, 9 बजे की बाद सिर्फ दवाई की दुकाने खोले रखने आ आदेश –

प्रेस कांफ्रेंस में जिलाधिकारी ने बताया जिले में जिले में लेट नाईट कर्फ्यू लागू रहेगी। जिलान्तर्गत सभी दूकानें अब 7 बजे की जगह शाम 6 बजे तक ही खुली रहेंगी। उन्होंने बताया कि सिर्फ दवाइयों की दुकाने 9 बजे के बाद तक खुले रखने के आदेश जारी किया गया है। रेस्टुरेंट एवं ढाबे में शाम 6 बजे के बाद बैठकर खाने की मनाही रहेगी हालांकि होम डिलीवरी एवं खाने को पैकिंग कराकर ले जा सकते हैं।

कोविड-19 टीके के प्रथम डोज के बाद नियमानुसार दूसरा डोज लेना अत्यंत महतवपूर्ण –

जिले में कोविड-19 टीकाकरण अभियान को लेकर जिलाधिकारी ने बाताया रविवार तक जिले में 89203 लोगो को प्रथम डोज तथा 11204 लोगो को दूसरा डोज लगाया जा जा चूका है। उन्होंने बताया कोविड-19 वैक्सीन का पहला टीका लेने के बाद दूसरा टीका लेना अत्यंत महत्वपूर्ण है। जिलाधिकारी ने यह भी कहा कि जिल लोगों का दूसरा डोज लगाने का समय आ गया है वे लोग टीकाकरण केंद्र पर जाकर दूसरा डोज अवश्य लें। उन्होंने यह भी कहा कि कोविड-19 संक्रमण के लक्षण दिखने पर सरकारी अस्पताल में हे जाँच कराएँ। किसी निजी नर्सिंग होम या अस्पताल में कोविड-19 की जांच ना कराएँ।

बढ़ते कोरोना मामलों पर 15 मई तक के लिए जिलाधिकारी ने जारी किये हैं निम्न आदेश-

  1. जिले में स्कूल/काॅलेज/कोचिंग संस्थान एवं अन्य शैक्षणिक संस्थान बंद रहेंगे। इस अवधि में राज्य सरकार के विद्यालय एवं विश्वविद्यालय द्वारा किसी प्रकार की परीक्षाएँ भी नहीं ली जा सकेंगी। ऑनलाइन शैक्षणिक कार्यक्रम पूर्ववत चलते रहेंगे। वहीं परीक्षाऐं आयोजित करने के मामलों में बिहार लोक सेवा आयोग, बिहार कर्मचारी चयन आयोग, बिहार तकनीकी चयन आयोग, केन्द्रीय चयन पषर्द (सिपाही भर्ती), बिहार पुलिस अवर सेवा आयोग एवं बिहार विद्यालय परीक्षा समिति पर उक्त शर्तें लागू नहीं होंगी।
  2. जिलान्तर्गत सभी दूकानें अपराह्न 6 बजे तक ही खुली रहेंगी एवं सभी सरकारी/निजी कार्यालय अपराह्न 5 बजे तक ही खुले रहेंगे।
  3. कोरोना संक्रमित मरीज जिस क्षेत्र में पाये जाते हैं उस क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित किया जाता है। इन क्षेत्रों में कोरोना प्रोटोकाॅल का सख्ती से अनुपालन सुनिश्चित किया जायगा।
  4. सभी सिनेमा हॉल/शोपिंग मॉल/क्लब/स्वीमिंग पूल/स्टेडियम/जिम पार्क एवं उद्यानद् पूरी तरह बंद रहेंगे।
  5. जिले में रात्रि 9 बजे से प्रातः 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू लागू रहेगा। बस/हवाई/रेल यात्रियों पर यह प्रतिबंध लागू नहीं होंगे।
  6. रेस्टोरेंट/ढ़ाबा/भोजनालय में बैठकर खाने पर प्रतिबंध रहेगा। होम डिलीवरी या टेक अवे सर्विस का संचालन रात्रि 9 बजे तक करने की अनुमति दी जाएगी।
  7. सार्वजनिक स्थलों पर किसी प्रकार के सरकारी/निजी आयोजनों पर रोक लगायी जाती है। यह रोक दफन/दाह संस्कार तथा विवाह एवं श्राद्ध कर्म आदि पर लागू नहीं होंगे। वहीं दफन/दाह संस्कार कार्यक्रम के लिए अधिकतम 25 तथा शादी एंव श्राद्ध कार्यक्रम के लिए अधिकतम 100 व्यक्तियों की सीमा निर्धारित की जाती है।
  8. जिले में सभी धार्मिक स्थल आमजनों के लिए 15 मई 2021 तक बंद रहेंगे।
  9. बाजारों/सब्जी मंडियों में भीड़ इकट्ठा करने की अनुमति नहीं होगी। इन स्थानों पर आम आदमी के आवागमन को ध्यान में रखते हुए दुकानों को खोलने के समय के बारे में जिला प्रशासन द्वारा बाद में निर्णय लिया जायेगा एवं आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किये जायेंगे।
  10. सार्वजनिक स्थानों पर भीड़ इकट्ठा करने की अनुमति नहीं दी जायेगी। इसका उल्लंघन करनेवालों पर दंड प्रक्रिया की धारा- 144 एवं आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 51-60 एवं भा.द.वि. की धारा- 188 के आलोक में दंडात्मक कार्रवार्इ की जायेगी। उपरोक्त प्रतिबंधों से आवश्यक सेवाओं जैसे- परिवहन, बैंकिंग, डाक, स्वास्थ्य एवं इससे संबंधित सेवाओं, फायर, पुलिस, एम्बुलेंस आदि पर छूट रहेगी। ई-कामर्स की गतिविधियाँ एवं उससे संबंधित प्रतिष्ठान भी इस प्रतिबंध से मुक्त रहेंगे। अंतर जिला एवं अंतरराज्यीय सार्वजनिक परिवहनों पर कोई रोक नहीं होगी। निमार्ण कार्यों एवं औद्योगिक प्रतिष्ठानों पर भी किसी प्रकार का प्रतिबंध नहीं रहेगा। सभी तरह के प्रतिबंध के साथ-साथ कुछ छूट भी दी गई है। इस अवधि में कोरोना वायरस के संक्रमण रोकने के लिए पूर्व में मानक संचालन प्रक्रिया निर्धारित किये गये हैं, जिसका अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित किया जाय।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here