राजगीर में घूमने के लिए इन 10 पर्यटन स्थल जरूर जाएं, तस्वीरों में देखें नजारा

0
21738

राजगीर बिहार का सबसे खूबसूरत पर्यटन स्थल है जहां दूर दूर से सैलानी घूमने आते है। ठंड के महीने मे ज्यादा भीड़ होती है।

राजगीर को बिहार का स्वर्ग कहा जाता है। दूर दूर से सैलानी यहां घूमने आते हैं। पहाड़ियों से घिरा राजगीर अपनी खूबसूरती से देश विदेश से पर्यटकों को अपनी और लुभाता है। राजगीर जैन धर्म और बौद्घ धर्म की अध्यात्म नगरी के रूप में जाना जाता है। यहां झील, चिड़ियाघर, रोप वे, ग्लास ब्रिज, कुंड, प्राचीन गुफाएं, शांति स्तूप सहित कई मनमोहक स्थल है जो पर्यटकों को अपनी और लुभाती है। राजगीर बिहार के नालंदा जिले में सबसे मनोरम पर्यटन स्थल है।

इन दस पर्यटन स्थल पर जरूर जाए

राजगीर में 22 कुंड मौजूद है। मान्यता है कि इन सभी कुंड का निर्माण भगवान ब्रह्मा ने करवाया जिसके साथ 22 कुंड और 52 जलधाराओं की उत्त्पति हुईं। इसी में से एक है ब्रह्म कुण्ड जो गरम जल कुंड के रूप में जाना जाता है। यहां पानी का तापमान 45 डिग्री तक रहता है जो ठंडी के मौसम में गरम पानी के कुंड के रूप में पर्यटकों को आकर्षित करता है। राजगीर में कुल 22 कुंड अलग अलग ऋषि मुनियों के नाम पर है।

2. वेणु वन को नए सिरे से पार्क के रूप में विकसित किया गया। इस वन की खूबसूरती देखने लायक है। मान्यता है की 6 वी सदी में भगवान बुद्ध यहां रुके थे और उन्होंने इस वन में उपदेश भी दिया था। आज  वन की खूबसूरती देखने लायक है।

वेणु वन

3 विश्व शांति स्तूप राजगीर के रत्नागिरी पर्वत पर स्थित विश्व शांति स्तूप पर्यटकों को लुभाता है। भगवान बुद्ध गया से ज्ञान प्राप्ति करने के बाद राजगीर के मनोरम वातावरण में यहां रुके थे। रोप वे से विश्व शांति स्तूप पहुंचने का रोमांच इसे और भी आकर्षक बना देता है।

विश्व शांति स्तूप

4. राजगीर में दो प्राकृतिक गुफाएं है,  जिसमें एक गुफा  के बाहर मौर्यकालीन कलाकृति दिखेंगी तो वहीं दूसरे गुफा के प्रवेश द्वार पर गुप्त राजवंश के शिलालेख मिले है। कहा जाता है कि इन गुफाओं का संबंध जैन धर्म से है।

5. राजगीर नेचर सफारी पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र है। इसी नेचर सफारी में स्काई ब्रिज है जिसे देखने लोग राजगीर पहुंच रहे है। नेचर सफारी में स्काई ब्रिज, साइकिलिंग, सस्पेंशन ब्रिज, बटर फ्लाई जोन, एडवेंचर पार्क जैसे और भी आकर्षण का केंद्र है।

स्काई ग्लास ब्रिज
सस्पेंशन ब्रिज

6 राजगीर जू सफारी अभी पर्यटकों के लिए खोला नहीं गया है। करीब 470 हेक्टेयर में फैले इस जू सफारी को पांच जोन में बांटा गया है। जहां तेंदुआ, भालू, बाघ, शेर, हिरण, एवं अन्य जानवर मौजूद है। जल्द इसे पर्यटकों के लिए खोल दिया जाएगा। राजगीर जू सफारी बनकर तैयार है।

राजगीर चिड़िया घर के अंदर का नजारा

7. घोड़ा कटोरा झील राजगीर की पहचान बन चुकी है। प्राकृतिक झील के अंदर भगवान बुद्ध की 70 फीट की प्रतिमा देखने दूर दूर से लोग आते है। यहां टमटम की सवारी सफर को और रोमांचक बनाती है।

8. राजगीर स्थित नौलखा जैन मंदिर पहाड़ियों पर स्थित है। यह मंदिर जैन धर्म की आस्था का बहुत बड़ा केंद्र है। पहाड़ी की चोटी पर स्थित इस मंदिर में दूर दूर से लोग आते है।

9. पांडु पोखर एक पार्क के रूप में विकसित किया गया है। जहा एडवेंचर के साथ साथ बोटिंग का लुफ्त उठा सकते है। यहां स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स का निर्माण किया गया है, जहां हर तरह की खेल सुविधा उपलब्ध है।

10. चीन की दीवार की तरह राजगीर में भी प्राचीन दीवार मौजूद है। पहाड़ियों पर स्थित ( Cylopean walls) दीवार 40 किमी लंबी है। माना जाता है कि प्राचीन समय में दुश्मनों से रक्षा के लिए इस दीवार का निर्माण कराया गया होगा।

राजगीर में घूमने के लिए क्या क्या है।

राजगीर मे घूमने के लिए गरम कुंड, स्काई ब्रिज, नेचर सफारी ,मंदिर सहित बहुत से पर्यटक स्थल है।

राजगीर कैसे पहुंचे

राजगीर सड़क मार्ग से पटना, बिहार शरीफ, नालंदा से जुड़ा हुआ है। राजगीर में रेल सुविधा उपलब्ध है।

राजगीर से पटना की दूरी कितनी है।

राजगीर से पटना की दूरी 100 किमी है।

राजगीर से नजदीकी एयरपोर्ट कौन सा है।

राजगीर से नजदीकी एयरपोर्ट पटना 100 किमी की दूरी पर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here