13 वर्षों बाद सहरसा फारबिसगंज रेलखंड स्थित राघोपुर से ललित ग्राम के बीच दौड़ेगी ट्रायल ट्रेन

0
6212

13 वर्षों बाद सहरसा फारबिसगंज रेलखंड स्थित राघोपुर से ललित ग्राम के बीच दौड़ेगी ट्रायल ट्रेन, 22 नवंबर को मुख्य संरक्षा आयुक्त करेंगे स्पीड ट्रायल

सहरसा फारबिसगंज रेल लाइन का इंतजार 13 वर्षों से लोग कर रहे है। 2008 में आयी कुसहा त्रासदी के बाद से सहरसा फारबिसगंज रेल लाइन बंद कर दिया गया। 2008 में अाई त्रासदी के बाद से सहरसा से राघोपुर तक ही रेल सिमट कर रह गया। सहरसा से फारबिसगंज की दूरी महज 111 किमी है, लेकिन 13 वर्ष बीतने के बाद भी सहरसा से फारबिसगंज तक ट्रेन नहीं पहुंच सकी। बीते वर्ष सहरसा से राघोपुर के बीच बड़ी रेल लाइन ट्रेन की शुरुवात की गई थी। थरबिटिया से राघोपुर के बीच नवंबर 2015 में मेगा ब्लॉक किया गया था। दिसंबर 2016 में सहरसा से राघोपुर के बीच बड़ी रेल लाइन निर्माण को लेकर मेंगा ब्लॉक किया गया था। एक दिसंबर 2020 को सहरसा सुपौल होते हुए राघोपुर के बीच एक जोड़ी ट्रेन का परिचालन शुरू किया गया था। राघोपुर से आगे ललित ग्राम स्टेशन तक आमान परिवर्तन कार्य पूरा हो चुका है। 22 नवंबर को इस रेल खंड पर स्पीड ट्रायल किया जाएगा।

22 नवंबर को 13 वर्षों बाद ललितग्राम पहुंचेगी ट्रेन।

13 वर्षों बाद राघोपुर से ललित ग्राम के बीच ट्रेन का परिचालन किया जाएगा। मुख्य संरक्षा आयुक्त राघोपुर से ललित ग्राम के बीच स्पीड ट्रायल करेंगे। 22 नवंबर को राघोपुर से ललित ग्राम के बीच दिन के 11:30 बजे से शाम 4 बजे तक ट्रेन दौड़ाकर स्पीड ट्रायल किया जाएगा। इस दौरान मवेशियों को ट्रैक से दूर रखने की अपील की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here