Saharsa rail news 2022: सहरसा से जुड़ेगा दरभंगा और फारबिसगंज, कोशी क्षेत्र में होगा रेल का विस्तार

0
9604

Saharsa rail news 2022: सहरसा से दरभंगा और फारबिसगंज रेल परिचालन इस वर्ष शुरू हो जाएगा। रेल सेवा प्रारंभ होने से कोशी के कई इलाकों को रेल सुविधा मिल सकेगी।

Saharsa rail news 2022: सहरसा रेलवे स्टेशन एवं कोशी क्षेत्र के लाखों रेल यात्रियों के लिए 2022 में रेल सुविधाओं में विस्तार होने की उम्मीद जगी है। सहरसा से दरभंगा तक रेल लाइन, सहरसा फारबिसगंज रेल लाइन परियोजना इस साल में पूरा हो जाएगा। वर्षों के बाद कोशी क्षेत्र के अलग अलग इलाकों को रेल कनेक्टिविटी मिलेगी।

सहरसा फारबिसगंज रेल परियोजना


सहरसा से फारबिसगंज रेल परियोजना का इंतजार 13 वर्षों से इस क्षेत्र के यात्री कर रहे है। 2008 में कुसहा त्रासदी के बाद से इस क्षेत्र में आज भी ट्रेन के चलने का इंतजार है। इस रेलखंड में राघोपुर तक रेल परिचालन किया जा रहा है। उससे आगे ललित ग्राम तक सीआरएस निरीक्षण किया जा चुका है। जनवरी के अंत तक ललित ग्राम तक ट्रेन चलने की उम्मीद है। इसके आगे तेजी से काम किया जा रहा है। जून तक आमान परिवर्तन कार्य पूरा कर सहरसा से फारबिसगंज तक ट्रेन चलाने की कोशिश है।

सहरसा दरभंगा रेल परियोजना

सहरसा से कोशी रेल महासेतु के रास्ते निर्मली झंझारपुर होते हुए दरभंगा तक रेल सपना का साकार इस वर्ष अप्रैल के महीने में पूरा हो जाएगा। सहरसा से सरायगढ़ के रास्ते आसनपुर कूपहा तक ट्रेन परिचालन किया जा रहा है। निर्मली तक सीआरएस निरीक्षण किया जा चुका है। जनवरी के आखिरी हफ्ते तक ट्रेन चलने की उम्मीद है। इसके बाद मार्च के अंत तक झंझारपुर तक कार्य पूरा कर सहरसा से दरभंगा के बीच अप्रैल से ट्रेन परिचालन शुरू कर दिया जाएगा।

Saharsa rail news 2022 सहरसा में सेकंड पिट लाइन का निर्माण

सहरसा में दूसरे वाशिंग पिट लाइन के एजेंसी का चयन कर लिया गया है। मिट्टी भराई का कार्य चल रहा है। जल्द ही एजेंसी वाशिंग पिट लाइन का कार्य शुरू कर देगी और वर्ष के अंत तक निर्माण कार्य पूरा कर लेने की उम्मीद है। दूसरे वाशिंग पिट निर्माण कार्य पूरा होने से ट्रेनों कि साफ सफाई पर असर नहीं होगा और लंबी दूरी की ट्रेनों के विस्तार का रास्ता साफ होगा।

सहरसा गंगजला सीधी लाइन से जुड़ने की उम्मीद

सहरसा से गंगजला चौक होते हुए 2 किमी रेल लाइन कारू खिरहरी हाल्ट से जुड़ने से मधेपुरा बनमनखी होते हुए कटिहार तक बिना इंजन बदले लंबी दूरी की गाड़ियों का परिचालन सुचारू रूप से किया जा सकेगा। इंजन बदलने की समस्या के कारण कटिहार होकर सहरसा के रास्ते गुवाहाटी रूट की ट्रेनों का परिचालन नहीं किया जा रहा। 2 किमी लाइन का निर्माण होने से जाम की समस्या से भी छुटकारा मिलेगा साथ ही कुछ और ट्रेनों के विस्तार का रास्ता साफ हो सकेगा।

सहरसा से पटना ट्रेन

सहरसा से पटना के लिए राज्यरानी,कोशी, इंटरसिटी और जनहित एक्सप्रेस चलती है।

सहरसा जंक्शन पर कितने प्लेटफॉर्म है।

सहरसा जंक्शन पर पांच प्लेटफॉर्म है।

सहरसा से नईदिल्ली ट्रेन

सहरसा से वैशाली, पुरबिया, हमसफर क्लोन, गरीब रथ और जनसाधारण एक्सप्रेस चलती है।

सहरसा फारबिसगंज ट्रेन

सहरसा फारबिसगंज आमान परिवर्तन के बाद ट्रेन चलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here