राज्यसभा सांसद प्रो.मनोज झा ने सीतामढ़ी से सहरसा होते हुए सिलीगुडी तक जीएल एक्सप्रेस चलाने के लिए रेलमंत्री को लिखा पत्र

0
2409

पूर्वोत्तर को सीमांचल होते हुए मिथिला को जोड़ने के उद्देश्य से राज्यसभा सांसद एवं रेल संबंधी स्थायी समिति सदस्य प्रोफेसर मनोज झा रेलमंत्री पीयूष गोयल को पत्र लिखकर सीतामढ़ी से सहरसा पुर्णिया होते हुए सिलिगुडी तक एक्सप्रेस ट्रेन चलाने की मांग की। सांसद मनोज झा ने पत्र में कहा कि सीमांचल क्षेत्र रेल नेटवर्क के अत्यंत पिछड़े हालात से गुजर रहा है। बिहार के सीमांचल क्षेत्र (किशनगंज, कटिहार, अररिया, पूर्णिया) से कोसी-मिथिला (सहरसा, मधेपुरा, सुपौल, मानसी, खगड़िया, हसनपुर रोड, समस्तीपुर, दरभंगा, सीतामढ़ी) क्षेत्र के लिए वर्तमान में एक भी डेली ट्रेन सेवा उपलब्ध नही है। जबकि रेल द्वारा इस क्षेत्र को जोड़ना अति आवश्यक व राजस्व की दृष्टि से लाभप्रद भी है। क्षेत्रीय आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए सिलीगुड़ी जंक्शन-सहरसा होते हुए सीतामढ़ी के बीच एक डेली सुपरफास्ट ट्रेन का इस रूट से परिचालन प्रारंभ करने की कृपा करे।

मीटर गेज में समस्तीपुर से सहरसा होते हुए सिलीगुड़ी तक जाती थी ट्रेन

सहरसा में 2005 में बड़ी रेल लाइन का निर्माण किया गया लेकिन छोटी लाइन के समय समस्तीपुर से सहरसा होते हुए जीएल एक्सप्रेस चलती थी। सांसद ने रेलमंत्री से मांग की है कि फिर से इस रूट में जीएल एक्सप्रेस चलाई जाए। इस ट्रेन के चलने से मिथिलांचल की बड़ी आबादी को इसका लाभ मिलेगा। छोटी लाइन के समय सहरसा से जीएल एक्सप्रेस की बड़ी डिमांड थी। उस दौर में कोशी सीमांचल की पहचान हुआ करती थी जीएल एक्सप्रेस। इस ट्रेन का परिचालन सीतामढ़ी-दरभंगा-समस्तीपुर-हसनपुर रोड-खगड़िया-मानसी-सहरसा-मधेपुरा-पुर्णिया-कटिहार- ठाकुरगंज होते हुए सिलीगुड़ी तक किया जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here