सीआरएस ने किया थलवारा दरभंगा दोहरीकरण रेल लाइन का निरीक्षण, ट्रैक रिपेयरिंग मशीन पटरी से उतरी, टला हादसा

0
2816

दरभंगा समस्तीपुर रेलखंड के 9 किमी लंबे थलवारा और दरभंगा के बीच दोहरीकरण एवं नॉन इंटरलॉकिंग का कार्य चल रहा था। नॉन इंटरलॉकिंग कार्य पूरा होने के बाद मुख्य संरक्षा आयुक्त ने रविवार को सीआरएस निरीक्षण किया। सीआरएस निरीक्षण के दौरान ही एक हादसा हो गया जब ट्रैक रिपेयरिंग मशीन पटरी से उतर गई। दोहरीकरण कार्य के दौरान ट्रैक पैकिंग मशीन के पटरी से उतर गई है। ऐसे में जब मुख्य संरक्षा आयुक्त मो.लतीफ खान, समस्तीपुर डीआरएम अशोक माहेश्वरी सहित अन्य अधिकारियों के साथ नव निर्मित दोहरीकरण लाइन का निरीक्षण कर रहे है तो घटना के बाद कई सवाल खड़े करते है। इस घटना के बाद हड़कंप मच गया। मशीन के दो चक्के पटरी से उतर गए और मौके पर पंहुचे कर्मचारियों द्वारा क्रेन की मदद से मशीन को ट्रैक पर चढ़ाया जा रहा है। कई बार ऐसा देखा गया है कि ट्रैक रेपरिंग मशीन पटरियों से उतर जाती है। थलवारा दरभंगा के बीच दोहरीकरण के साथ साथ विद्युतीकरण का कार्य भी नए ट्रैक पर किया जा रहा है।

बहरहाल मो.लतीफ खान,रेल संरक्षा आयुक्त(पूर्वी क्षेत्र)/कोलकाता ने आज दरभंगा-लहेरियासराय-थलवारा खंड के दोहरीकरण के कार्य का निरीक्षण पूरा कर लिया गया है। सीआरएस की रिपोर्ट मिलने के बाद 9 किमी लंबे डबल रेल लाइन पर ट्रेनों का परिचालन शुरू होगा। निरीक्षण के दौरान अशोक माहेश्वरी,मंडल रेल प्रबंधक/समस्तीपुर एवं अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here